सरकारी योजना - Search results

अटल पेंशन योजना में रखें ध्यान

अटल पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए इन बातों का रखें ध्यान  || सरकारी योजना 
ATAL PENSEN YOJNA KA LABH LETE SAMY RAKHEN IN BATON KA DHYAN 

अटल पेंशन योजना (APY) असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए काफी फायदेमंद सामजिक सुरक्षा स्कीम है. APY में निवेश करने से रिटायरमेंट के बाद के खर्च करने के लिए आपको नियमित आय मिलती है.

केंद्र सरकार ने APY को मई 2015 में शुरू किया था. इससे पहले असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए इस तरह की (APY) कोई योजना नहीं थी.
अटल पेंशन योजना


अटल पेंशन योजना (APY) में निवेश से रिटायर होने के बाद आप हर माह पेंशन पाने के हकदार हो सकते हैं. APY योजना की सबसे बड़ी खासियत यह है कि अगर आपकी असामयिक मृत्यु हो जाती है तो आपके परिवार को फायदा जारी रखने का प्रावधान है.

अटल पेंशन योजना (APY) में निवेश करने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसकी पत्नी और पत्नी की भी मृत्यु होने की स्थिति में बच्चों को पेंशन मिलने का प्रावधान है.

रिटायर होने के बाद जीवनभर पेंशन पाने के लिए आपको APY में कुछ सालों तक ही निवेश करना होता है. आपके निवेश के साथ ही सरकार भी अटल पेंशन योजना (APY) में अपनी ओर से भी अंशदान देती है.

किसके लिए है अटल पेंशन योजना (APY)?
अटल पेंशन योजना (APY) में कोई भी भारतीय निवेश शुरू कर सकता है. अटल पेंशन योजना (APY) में भाग लेने के लिए आपका बैंक खाता होना जरूरी है.

APY खाता खोलने के लिए इसे आधार कार्ड से जुड़ा होना भी जरूरी है. अटल पेंशन योजना (APY) का लाभ उन्हीं लोगों को मिल सकता है जो इनकम टैक्स स्लैब से बाहर हैं.


APY में उम्र की है सीमा क्या है?
अटल पेंशन योजना (APY) के लिए लोगों को 6 भागों में बांटा गया है. अटल पेंशन योजना (APY) का फायदा उठाने के लिए आपकी उम्र 18 से 40 साल के बीच होनी चहिए. APY के तहत पेंशन पाने के लिए आपको कम से कम 20 साल तक निवेश करना होगा.

APY-Chart-
अटल पेंशन योजना



APY में कितना पेंशन मिलेगा ?
APY में पेंशन की रकम आपके द्वारा किए गए निवेश और आपकी उम्र पर निर्भर करती है. अटल पेंशन योजना (APY) के तहत कम से कम 1,000 रुपये और अधिकतम 5,000 रुपये मासिक पेंशन मिल सकता है. 60 साल की उम्र से आपको APY के तहत पेंशन मिलना शुरू हो जाएगा.


क्या है APY का फायदा ?
आप जितनी जल्दी अटल पेंशन योजना (APY) से जुड़ेंगे उतना अधिक फायदा मिलेगा. अगर कोई व्यक्ति 18 साल की उम्र में अटल पेंशन योजना (APY) से जुड़ता है तो उसे हर महीने 210 रुपये का निवेश करना होगा.

रिटायर होने के बाद 60 साल की उम्र से आपको हर महीने 5000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी.
अटल पेंशन योजना

कौन नहीं हो सकता है APY में शामिल ?
ऐसे लोग जो आयकर (Income Tax) के दायरे में आते हैं, सरकारी इम्प्लाई हैं या फिर पहले से ही EPF, EPS जैसी योजना का लाभ ले रहे हैं वे अटल पेंशन योजना (APY) का हिस्सा नहीं बन सकते.

अटल पेंशन योजना (APY) के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस वेबसाईट पर जा सकते हैं : https://npscra.nsdl.co.in/nsdl/scheme-details/APY_Scheme_Details.pdf

क्या है धानमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना कैसे मिलेगा इसका लाभ || सरकारी योजना

पैसे की दिक्कत की वजह से पढ़ाई पूरी नहीं कर पाने वाले छात्र-छात्राओं के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री विद्या लक्ष्मी योजना लॉन्च की है. योजना के तहत स्कॉलरशिप और एजुकेशन लोन से जुड़ी हर जानकारी एक प्लेटफ़ॉर्म पर मिलती है.
प्रधानमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना

इस पोर्टल पर एजुकेशन लोन के कॉमन एप्लिकेशन फॉर्म (CAF) भी उपलब्ध हैं. इनकी मदद से पढ़ाई के लिए लोन या स्कॉलरशिप पाने के लिए आवेदन किया जा सकता है.

लोन और स्कॉलरशिप से जुड़ी शिकायतें भी इस पोर्टल के माध्यम से की जा सकती हैं.


अब तक देश के 13 बैंकों ने इस पोर्टल पर एजुकेशन लोन की 22 स्कीम पंजीकृत की है. इनमें SBI, आईडीबीआई बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और केनरा बैंक शामिल हैं. इस पोर्टल का डेवलपमेंट और मेंटनेंस एनएसडीएल ई-गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर करती है.

इस पोर्टल को खास तौर पर गरीब छात्रों को ध्यान में रखकर विकसित किया गया है. पैसे की दिक्कत की वजह से कई बार छात्रों को पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ती थी.

इस योजना के तहत आने वाले वक्त में छात्रों से संबंधित हर तरह की योजनाओं को जोड़ दिया जायेगा. ऑनलाइन वेबसाइट की मदद से लोन और स्कॉलरशिप की प्रक्रिया पूरी होने से सिस्टम में पारदर्शिता भी आएगी.

प्रधानमंत्री विद्या लक्ष्मी योजना के तहत छात्रों को सिर्फ एक फार्म भरना होता है. योजना के तहत एजुकेशन लोन पर ब्याज दर सभी बैंकों में अलग-अलग है. बैंकों के ब्याज दर की जानकारी के लिए छात्रों को पोर्टल पर लॉग-इन करना होगा.


विद्या लक्ष्मी योजना पोर्टल की खासियत
शिक्षा लोन के लिए आवेदन करने की सुविधा
योजना के तहत लोन आवेदन की स्थिति को देखने के लिए डैशबोर्ड की सुविधा
छात्र-छात्राओं के लिए एजुकेशन लोन से संबंधित सवाल एवं शिकायत हेतु ईमेल की सुविधा
बैंकों के लिए लोन प्रक्रिया की मौजूदा स्थिति को अपलोड करने की सुविधा
बैंकों की शिक्षा लोन एवं अन्य स्कीम की एक ही जगह जानकारी
सरकार द्वारा देश भर के छात्र-छात्राओं की सूचना एवं योजनाओं में आवेदन के लिए राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल को इससे जोड़ना
सभी बैंकों में एक प्लेटफ़ॉर्म से एजुकेशन लोन के लिए आवेदन करने की सुविधा
प्रधानमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना


विद्या लक्ष्मी योजना के लाभ
विद्या लक्ष्मी योजना की मदद से छात्र अपनी शिक्षा जारी रख सकेंगे.
योजना के तहत छात्र पोर्टल के माध्यम से 13 बैंकों की 22 तरह के लोन का लाभ उठा सकेंगे
अपनी सुविधा/जरूरत के हिसाब से लोन ले सकेंगे
बैंक द्वारा पोर्टल पर लोन से संबंधित जानकारी के साथ स्कॉलरशिप की जानकारी भी अपलोड की जाएगी.
लोन लेने के लिए एकीकृत प्लेटफ़ॉर्म की वजह से छात्रों को एजुकेशन लोन के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा.

विद्या लक्ष्मी योजना में लोन के लिए कैसे करें आवेदन?
विद्या लक्ष्मी योजना में लोन के लिए आवेदन करने के लिए पोर्टल पर जाना होगा. इस लिंक पर क्लिक करें : https://www.vidyalakshmi.co.in/Students/
इस लिंक पर आपको रजिस्टर करने के बाद ही लोन के लिए आवेदन करने का मौका मिलेगा. https://www.vidyalakshmi.co.in/Students/signup
विद्या लक्ष्मी योजना में रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद आपको एक इमेल आईडी एवं पासवर्ड मिलेगा.
इसके बाद आप इमेल आईडी एवं पासवर्ड डालने के बाद लॉग-इन कर सकेंगे.
एजुकेशन लोन के लिए आप कॉमन एजुकेशन लोन फॉर्म भरें.
विद्या लक्ष्मी योजना के तहत एजुकेशन लोन लेने के लिए आपको अपनी सुविधा के हिसाब से लोन के लिए आवेदन करना होगा.
लोन मंजूर होने के बाद आपको इसी पोर्टल पर उसकी जानकारी मिल जाएगी.

जानकारी को किसी जरूरतमंद से शेयर जरुर करें 

डिजिलॉकर क्या है कैसे आप इसके साथ अपना चालान कटने से बचा सकते हैं || प्रधानमंत्री योजना

क्या आप भी इंटरव्यू में ऑरिजिनल दस्तावेज ले जाने से डरते हैं? आपको एमबीए (MBA), इंजीनियरिंग की अपनी डिग्री खो जाने का डर सताता है? केंद्र सरकार की डिजिटल लॉकर स्कीम आपकी काफी मदद कर सकती है.

आप अपने सभी शैक्षणिक दस्तावेज, पहचान और पते का प्रमाण यहां सुरक्षित रख सकते हैं. अगर आप इंटरव्यू देने जा रहे हैं तो आप वहां एक लिंक दे सकते हैं, जिससे आपके दस्तावेज की जांच आसानी से हो जाएगी.

आपको अपने साथ फोल्डर में ऑरिजिनल सर्टिफिकेट ले जाने की जरूरत नहीं है.


डिजिलॉकर क्या है


डिजिटल लॉकर स्कीम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया प्रोग्राम का महत्वपूर्ण हिस्सा है. इंटरनेट आधारित इस सेवा के जरिये आप जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, शैक्षणिक प्रमाण पत्र जैसे अहम दस्तावेजों को ऑनलाइन रख सकते हैं.

इसके लिए आपके पास आधार कार्ड होना चाहिए. आधार नंबर के इस्तेमाल से आप अपना डिजिटल लॉकर खोल सकते हैं.

क्या है इसका उद्देश्य?
डिजिटल लॉकर स्कीम का उद्देश्य दस्तावेजों के कागजी रूप को कम करना है. इसके अलावा इससे एजेंसियों के बीच ई-दस्तावेजों के आदान-प्रदान का चलन बढ़ाना भी एक मकसद है.

इस पोर्टल की मदद से ई-दस्तावेजों का आदान-प्रदान पंजीकृत कोष के माध्यम से किया जाएगा, जिससे ऑनलाइन दस्तावेजों की प्रामाणिकता सुनिश्चित होगी.

आवेदक अपने दस्तावेज को स्कैन कर वेबसाइट पर अपलोड कर सकते हैं. इसके साथ ही डिजिटल ई-साइन सेवा का उपयोग कर उन पर हस्ताक्षर कर सकते हैं. इन डिजिटल हस्ताक्षर वाले दस्तावेजों को सरकारी संगठनों या अन्य संस्थाओं के साथ साझा किया जा सकता है.



आपको क्या सुविधा मिलेगी?
डिजिटल लॉकर स्कीम के हर आवेदक के आधार से जुड़ा हुआ 10MB का व्यक्तिगत स्टोरेज स्पेस मिलता है, जहां सुरक्षित रूप से ई-दस्तावेजों एवं URI लिंक को रखा जा सकता है.

जरूरत के वक्त इसे एक्सेस किया जा सकता है. वेब पोर्टल के जरिये यह सुविधा उपलब्ध है. भविष्य में मोबाइल एप से भी यह सेवा मिलेगी.



कैसे बनायें DLS अकाउंट?
सबसे पहले आप इस लिंक पर क्लिक करें: digitallocker.gov.in
यहां आप ईमेल आईडी, पासवर्ड या आधार की मदद से अकाउंट बना सकते हैं.
इसके बाद आधार से लिंक्ड मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर वेरिफिकेशन लिंक भेजे जाते हैं.
इन्हें वेरीफाय करते ही आपका अकाउंट बन जायेगा.
फिर आप अपने यूजर आईडी और पासवर्ड से यहां लॉग इन कर सकते हैं.
आप अपने शैक्षणिक दस्तावेज और पहचान/पते का सबूत यहां स्कैन कर अपलोड कर सकते हैं.
इसके बाद आपको डिजिटल हस्ताक्षर करने की प्रक्रिया पूरी करनी होगी.

डिजिलॉकर क्या है

इन बातों का रखें ध्यान
आप डिजिटल लॉकर पर अपने यूजर नेम और पासवर्ड के अलावा सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्विटर और जीमेल के अकाउंट से भी साइन-इन कर सकते हैं.
साइन-इन करने के बाद आपका पर्सनल अकाउंट आपके सामने होगा. इसमें दो सेक्शन होंगे.
पहले में अलग-अलग एजेंसियों द्वारा आपको जारी सर्टिफिकेट, उनके यूआरएल(लिंक), जारी करने की तिथि और शेयर करने का विकल्प होगा.
दूसरे सेक्शन में आपके द्वारा अपलोड सर्टिफिकेट, उनका संक्षिप्त विवरण और शेयर व ई साइन का विकल्प होगा.
जरूरी दस्तावेज अपलोड करने के लिए पहले ऊपर दिए गए विकल्पों में से उचित विकल्प चुनें. जैसे अगर आप सर्टिफिकेट अपलोड करना चाहते हैं तो माई सर्टिफिकेट पर क्लिक करें.
अपलोड डॉक्युमेंट पर क्लिक कर अपने सर्टिफिकेट चुनें. उसके बारे में मांगी गई जानकारी भरें. ऐसे ही एक-एक कर आप अपने सारे दस्तावेज डिजिटल लॉकर में अपलोड कर सकते हैं.

जानकारी को शेयर करना न भूलें 
© Copyright 2013-2019 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BY BLOGGER.COM