Shabda Vanshi Hindi Blog

आर्मी डे कब मनाया जाता है व् क्यों

आर्मी डे कब मनाया जाता है, ndian Army Day 2020
आज है आर्मी डे

ndian Army Day 2020: देश में हर साल 15 जनवरी को भारतीय थल सेना दिवस मनाया जाता है। आज ही के दिन 1949 में फील्ड मार्शल केएम करियप्पा (Field Marshal KM Cariappa) ने जनरल फ्रांसिस बुचर (General Sir Francis Butcher) से भारतीय सेना की कमान ली थी। फ्रांसिस बुचर भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर इन चीफ थे। फील्ड मार्शल केएम करियप्पा भारतीय आर्मी के पहले कमांडर इन चीफ बने थे। करियप्पा के भारतीय थल सेना के शीर्ष कमांडर का पदभार ग्रहण करने के उपलक्ष्य में हर साल यह दिन मनाया जाता है। करियप्पा पहले ऐसे ऑफिसर थे जिन्हें फील्ड मार्शल की रैंक दी गई थी। आर्मी डे पर पूरा देश थल सेना के अदम्य साहस, उनकी वीरता, शौर्य और उसकी कुर्बानी को याद करता है।

आर्मी डे कब मनाया जाता है



भारतीय सेना
- भारतीय आर्मी का गठन 1776 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने कोलकाता में किया था।
- इंडियन आर्मी चीन और अमेरिका के साथ दुनिया की तीन सबसे आर्मी में शामिल है।
- 2013 में उत्तराखंड के बाढ़ पीड़ितों को बचाने के लिए चलाया जाने वाला 'ऑपरेशन राहत' दुनिया का सबसे बड़ा सिविलियन रेस्क्यू ऑपरेशन था।

- यह दिन सैन्य परेडों, सैन्य प्रदर्शनियों व अन्य आधिकारिक कार्यक्रमों के साथ नई दिल्ली व सभी सेना मुख्यालयों में मनाया जाता है। आर्मी के जवानों के दस्ते और अलग-अलग रेजिमेंट की परेड होती है। इस दिन उन सभी बहादुर सेनानियों को सलामी भी दी जाती है जिन्होंने कभी ना कभी अपने देश और लोगों की सलामती के लिये अपना सर्वोच्च न्योछावर कर दिया।

जानें केएम करियप्पा के बारे में
- 1899 में कर्नाटक के कुर्ग में जन्मे फील्ड मार्शल करिअप्पा ने महज 20 वर्ष की उम्र में ब्रिटिश इंडियन आर्मी में नौकरी शुरू की थी।
- करिअप्पा ने वर्ष 1947 के भारत-पाक युद्ध में पश्चिमी सीमा पर सेना का नेतृत्व किया था।
- भारत-पाक आजादी के वक्त उन्हें दोनों देशों की सेनाओं के बंटवारे की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।
- वर्ष 1953 में करिअप्पा सेना से रिटायर हो गए थे।
- भारतीय सेना में फील्ड मार्शल का पद सर्वोच्च होता है। ये पद सम्मान स्वरूप दिया जाता है। भारतीय इतिहास में अभी तक यह रैंक सिर्फ दो अधिकारियों को दिया गया है। देश के पहले फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ हैं। उन्हें जनवरी 1973 में राष्ट्रपति ने फील्ड मार्शल पद से सम्मानित किया था। एम करिअप्पा देश के दूसरे फील्ड मार्शल थे। उन्हें 1986 में फील्ड मार्शल बनाया गया था।

सक्सेसफुल लोगों की ये आदतें बना सकती हैं आको भी सक्सेसफुल

 सक्सेसफुल लोगों की आदतें बना सकती हैं आको भी सक्सेसफुल
successful people habits ,

कभी सोचा है कि बिल गेट्स जिन्होंने कॉलेज की पढ़ाई भी पूरी नहीं की वो कैसे दुनिया के सबसे अमीर और सक्सेसफुल इंसान बने. वो कौन-सी आदतें थी जिन्होनें उन्हें जीवन में सफलता दिलाई. अक्सर ये सवाल हमारे जेहन में आता है कि एक इंसान को सक्सेसफुल कौस-सी आदतें बनाती हैं.




तो, चलिए आज आपको इसी सवाल का जवाब देते हैं कि वो आदते कौन-सी हैं:

ज़रूरी नहीं है हर काम में परफेक्ट होना
'आई वांट एवरीथिंग टू भी परफेक्ट’ अगर आप भी उन्हीं लोगों में से हैं, जिन्हें हर चीज़ में परफेक्शन चाहिए होता है तो रूक जाइए. क्योकि परफेक्शन आपकी सफलता में रूकाकट पैदा करता है.



दरअसल बात ये है कि जो लोग हर चीज़ में परफेक्शन ढूंढते हैं वो काम कम करते और सोचते ज्यादा है. इसलिए वो अपने लक्ष्य प्राप्त नहीं कर पाते.

परफेक्ट होने का मतलब है कि सब एकदम सही होना. पर एक सच ये भी है कि कभी भी कुछ भी सही नहीं होगा. चाहे हम कितना भी प्रयास करें. इसलिए काम करना ज़रूरी है बजाय ये सोचने के बजाय कि ये परफेक्ट है या नहीं.

किताबों को दोस्त बनाते हैं



किताबें अगर आपकी सबसे अच्छी दोस्त हैं, तो आपको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता है. ऐसा माना है कि दुनिया के सबसे सक्सेसफुल लोग रिडिंग पर बहुत ध्यान देते हैं. वो अपने दिन के कुछ मिनट या घंटें रिडिंग में ज़रूर इनवेस्ट करते हैं. क्योकि एक अच्छा रीडर ही अच्छा Communicator भी बन पाता है. इसीलिए तो बिल गेटस् साल में लगभग 50 किताबें पढ़ते हैं.

किताबें की मदद से हम नये आइडियाज़ बना पाते हैं और अपनी नॉलेज भी अच्छी कर पाते हैं.

डायरी में छिपा है सक्सेस का मंत्र 



डायरी लिखना सुनने में थोड़ा अजीब लगता है पर ये एक ऐसी आदत है जो सक्सेसफुल लोग हर रोज़ करते हैं. अपने दिन के बारे में लिखना, पूरी दिन में क्या अच्छा हुआ, क्या अलग हुआ, क्या नया सीखा. इन सबके बारे में लिखने से जीवन में क्लेरिटी आती है.

हजारों साल पहले, सुकरात और अरस्तू जैसे दार्शनिकों के पास आईफ़ोन या आईपैड नहीं थे. लेकिन उन सभी के पास डायरी थीं जिनमें उन्होंने अपने जीवन का लेखा-जोखा रखा था.

डायरी लिखने से हम अपनी वो बातें कह पाते हैं जिन्हें हम किसी से शेयर नहीं करना चाहते हैं अपने करीबी दोस्तों से भी नहीं. जिससे हम हल्का महसूस करते है.

...और ये वाली आदत सबसे मुश्किल है
और एक टाइम ऐसा आता है कि अलॉर्म को भी शर्म आने लगती है. अगर आप उन्हीं लोगों में से हैं जो सुबह जल्दी उठने के नाम पर कहते हैं ‘ये तो ना हो पाएगा’. तो आप कभी सक्सेसफुल नहीं हो सकते. क्योकि ऐसा माना जाता है कि दुनिया में 90 प्रतिशत सक्सेसफुल लोग जल्दी उठते हैं.

जल्दी उठने से हम अपना दिन अच्छे से प्लान कर पाते हैं और उस प्लान पर अमल भी कर पाते हैं. वहीं, सुबह उठकर अगर हम थोड़ी देर एक्सरसाइज़ कर लेते हैं तो मानो सोने पर सुहागा है.

बता दें कि, अमेरिकन टीवी होस्ट ओपरा विनफ्रे कहती हैं कि वह 09:00 बजे काम शुरू करने से पहले प्रति दिन 06:02 बजे उठती हैं.

खुद के साथ समय बिताना



इंसान को सोशल ऐनिमल कहा जाता है हम चाहते हैं कि हम हमेशा लोगों के बीच रहें. पर क्या आपको पता है कि दुनिया के सबसे क्रिएटिव लोग खुद से साथ सबसे ज्यादा समय बिताते हैं.

रिसर्च के मुताबिक,जो लोग अकेले रह सकते हैं वो खुश रहते हैं और स्ट्रेस को बेहतर तरीके से मैनेज कर पाते हैं. साथ ही, जब हम अकेले रहते हैं तो खुद को ज्यादा अच्छे से समझ पाते हैं.

ऐसा करने से हमारी बॉडी रिलेक्स होती है और हम अपने काम को पूरे फोकस के साथ कर पाते है. इसलिए ज़रूरी है कि अपनी बिज़ी लाइफ से दो पल खुद को लिए निकाल लिए जाए.

हर दिन कुछ नया सीखते हैं



कहते हैं कि ज़िंदगी का असली मतलब ही है कि हर दिन कुछ नया सीखते रहना. हमे हर दिन कुछ नया सिखाता है बस शर्त ये है कि हम सीखने के लिए तैयार हैं या नहीं. 

दुनिया के सबसे सक्सेसफुल लोग अपना समय टीवी देखने, वीडियो गेम खेलने, या वीकेंड पर पार्टी करने में नहीं बिताते. वो अपने स्किल्स को अच्छी करने में अपना टाइम इनवेस्ट करते हैं.

क्योकि जब हम कुछ नया सीखते हैं तो अपने बारें में नई बातें डिस्कवर कर पाते हैं.

अपनी गलतियों से सीखना
अल्बर्ट आइंस्टीन ने कहा था, ‘जिसने कभी गलती नहीं की है उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की है’ जो लोग हारने से नहीं डरते हमेशा सक्सेसफुल होकर निकलते हैं. क्योकि ज़िंदगी हमें हर मोड़ पर हराती है और जो असफलता से डर जाते हैं कभी सफलता हासिल नहीं कर पाते.

असफलता हमें जीवन वो लाइफ लेसन्स देती है जो सफलता कभी नहीं देती. इसलिए असफलता से कभी मत डरो क्योंकि जितनी तेजी से आप असफल होते हैं उतनी ही जल्दी आप सफलता की राह देखेंगे.

अपनी असफलता को स्वीकार करना और उसे पॉज़ीटिव तरीके से देखना सबसे मुश्किल आदतों में से एक है. लेकिन यह सफल बनने के लिए सबसे ज़रूरी है. और हां हमारे बॉलीवुड के किंग खान ने खुद कहा है कि हार कर जीतने वाले को ही बाज़ीगर कहते है.


हेल्दी खाना और फिट रहना



सुनने में थोड़ा क्लीशे लगे पर य हेल्दी रहना सक्सेसफुल बनने के लिए सबसे ज्यादा ज़रूरी है. क्योकि जब हमारा दिमाग और शरीर स्वास्थ रहता है तभी हम प्रोडक्टिव तरीके से काम कर पाते हैं. दुनिया में सबसे सक्सेसफुल लोग अपनी हेल्थ का सबसे ज्यादा ध्यान रखते हैं.

बता दें कि ओबामा हर रोज़ ऑफिस जाने से पहले 45 मिनट वर्क ऑउट करते हैं. दुनिया के सक्सेसफुल लोग टाइम के हिसाब से खाना खाते हैं. यदि आप अच्छा खाते हैं, तो आप अच्छा काम भी करते हैं. इसलिए ज़रूरी है चीनी कैफीन, फ्राइड स्नैक्स जैसी चीज़ें से परहेज किया जाए.

अगर आप भी किसी ऐसी आदत के बारे में जानते हैं, तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में बताएं.

अकेले घुमने है शोकिन तो इन बातों का रखें ध्यान

AKELE BAHAR GHUMNE KE SHOKIN TO IN BATON KA RAKHRN DHYAN
अकेले घुमने है शोकिन तो इन बातों का रखें ध्यान ,


जो लोग घूमना पसंद करते हैं, उनके लिए घूमना एक लत की तरह है. बस मन पक्का हो जाए. फिर भले ही किसी का साथ मिले चाहे ना मिले. ये लोग घूमने निकल पड़ते हैं. कई लोगों के लिए तो नयी जगहों पर घूमना उनके काम का हिस्सा है.




वैसे इसके कई फायदे भी हैं, जो लोग ज़्यादा नहीं घूम पाते वे अपने देश और यहां की अलग-अलग संस्कृतियों के बारे ज़्यादा जान भी नहीं पाते. नई जगह जाना, वहां के लोगों का रहन-सहन व्यवहार आदि देखना ये सब रोमांचकारी है.

मगर यदि आप किसी ऐसी नई जगह पर घूमने जा रहे हैं, जहां के बारे में आप ज़्यादा कुछ नहीं जानते तो आपको अपनी यात्रा से पहले और यात्रा के दौरान बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिए. कई बार आपकी छोटी सी गलती आपको बहुत भारी पड़ सकती है.

तो चलिए हम आपको बताते हैं कि किसी नई जगह की यात्रा पर निकलने से पहले या इसके दौरान विशेष रूप से किन बातों का ध्यान रखना चाहिए:

1. इंटरनेट की मदद लेने में संकोच न करें
अगर आप किसी नयी जगह की यात्रा पर जा रहे हैं, तो सबसे पहले वहां के बारे में इंटरनेट या फिर किसी जानने वाले से वहां की पूरी जानकारी ज़रूर ले लें. आपको पता होना चाहिए कि आप जहां जा रहे हैं, वो जगह कैसी है, वहां के लोग कैसे हैं.



इसके अतिरिक्त आप सोशल मीडिया के माध्यम से यहां रहने वाले अपने ऑनलाइन दोस्तों को भी सूचित कर सकते हैं कि आप उनके क्षेत्र में आ रहे हैं. इससे आपको वहां लोकल सपोर्ट मिल सकता है. अगर कल को आप वहां किसी तरह की परेशानी में फंसते हैं तो आपके ये ऑनलाइन दोस्त आपकी मदद कर सकते हैं.

2. होटल बुकिंग से पहले पढ़ें रिव्यू 
अगर आप महिला हैं, तो ये आपके लिए बेहद जरूरी है कि आप अपनी यात्रा के दौरान जहां ठहरने वाली हैं. वहां के बारे में आप अच्छे से पता कर लें. लोग होटल बुक करते हुए केवल दाम देखते हैं. जबकि, दाम से ज़्यादा ज़रूरी ये जानना कि जहां आप रुकने वाले हैं वहां के बारे में लोगों की क्या राय है.

तो ये जानने के लिए होटल बुक करने से पहले आप उस होटल के बारे में वहां ठहर चुके यात्रियों के रिव्यू ज़रूर पढ़ लें. अगर ज़्यादातर पॉज़टिव रिव्यू हों तभी होटल बुक करें वर्ना कोई और होटल सर्च करें. हालांकि किसी भी होटल को लेकर हर किसी की राय एक जैसी नहीं होगी मगर फिर भी आप ये देखें कि ज़्यादातर लोग उस होटल के बारे में क्या कह रहे हैं. 

3. ना करें अपनी पूरी जानकारी शेयर
आमतौर पर ऐसा होता है कि हम यात्रा के दौरान अपने सह यात्रियों से घुल मिल जाते हैं और उन्हें ये सब बता देते हैं कि हम कहां से आ रहे हैं, कहां और किस काम के लिए जा रहे हैं.



जबकि, आज के समय में ऐसा करना समझदारी नहीं कहलाता. इसलिए आप किसी से भी उतनी जानकारी शेयर करें जितनी ज़रूरी हो. जहां आप जा रहे हैं वहां भी किसी से अपने बारे में हर बात ना बताएं.

4. चाट मसाले का पैकेट साथ लेकर चलें 
आप जब यात्रा के लिए निकल रहे हों तो अपने सामान के साथ एक चाट मसाले का पैकेट रखना ना भूलें. ऐसा करते हुए भले आपको थोड़ा अटपटा लगे लेकिन आगे के सफर में ये चाट मसाला आपके बहुत काम आएगा. कई बार आप घूमने की धुन में समय पर खाना पीना भूल जाते हैं.

ऐसे में जब आपको भूख लगे और आसपास कुछ खाने को ना दिखे तो घबराइए मत, बाज़ार में चलते फिरते टमाटर खीरे या मूली कुछ भी लेकर बैग में रख लें और भूख लगने पर चाट मसाला मिला कर खा लें. इससे कम से कम आप एक समय तो भूख पर काबू पा ही सकते हैं.

दिन में तो आप किसी भी होटल में रुक कर खा सकते हैं लेकिन रात में आप किसी पर भरोसा नहीं कर सकते. खाने पीने के मामले में तो बिलकुल नहीं इसलिए खुद की तैयारी हमेशा पूरी रखें. 

5. हथियार जैसा कोई सामान ज़रूर रखें पास 
हिंसा या फिर किसी तरह का हथियार साथ रखना अच्छी बात नहीं है मगर अपनी सुरक्षा के लिए खुद को तैयार रखना बेहद ज़रूरी है. इसीलिए जब आप यात्रा पर निकल रहे हों तो अपने साथ कोई ना कोई ऐसा सामान ज़रूर रखें जो समय आने पर हथियार का काम कर सके.

जैसे कि एक छोटा चाकू, नुकीली बेल्ट, लकड़ी का मजबूत रोल इत्यादि. आज के समय में कुछ कहा नहीं जा सकता कि कब हम किसी बुरी परिस्थिति में फंस जाएं उस समय ऐसा कुछ सामान साथ होना एक तरह से हिम्मत देता है.

6. दिल से नहीं दिमाग से काम लें 
कहते हैं बच्चे मन के सच्चे होते हैं, लेकिन आज के दौर में बच्चों की इस सच्चाई और मासूमियत का खूब फायदा उठाया जा रहा है. यह बात सब जानते हैं कि लोग बड़ों की अपेक्षा बच्चों पर जल्दी तरस खाते हैं और उनकी बात मान लेते हैं. ऐसे में घूमने वाली जगहों पर बच्चों का इस्तेमाल कर के यात्रियों को खूब लूटा जाता है.

इसीलिए जब भी यात्रा पर निकलें तो बच्चों का इस्तेमाल कर होने वाली इस जालसाज़ी से बच कर रहें. बच्चे बड़ी मासूमियत से अपना दुख बता कर आपसे पैसे ऐंठ सकते हैं या फिर आपको बातों में बहला कर आपका सामान चोरी कर सकते हैं. ऐसे ही कुछ बड़े लोग भी होते हैं, जो आपसे अपनी मजबूरी बता कर पैसे ऐंठने की कोशिश करते हैं या फिर फोन करने के बहाने आपका फोन लेकर भाग जाएंगे. इसलिए घूमने के दौरान दिल से ज़्यादा दिमाग से काम लें.

7. टैक्सी बुक करते समय रखें ध्यान
नये यात्रियों को देख कर कई टैक्सी ड्राइवर उन्हें टैक्सी में बिठा लेते हैं. अगर आपसे भी कोई टैक्सी में बैठने को कहे तो बिना सोचे समझे टैक्सी में बैठने की गलती ना करें. बैठने से पहले किराये के बारे में तय कर लें. ऐसा ना हो कि आपको डेस्टिनेशन पर उतारने के बाद टैक्सी ड्राइवर आपसे मन चाहे पैसों की मांग करे.

इसके अतिरिक्त टैक्सी यात्रा के दौरान सतर्क रहें. वैसे आज कल कई तरह की कैब सर्विस चलन में हैं जिनका किराया पहले से तय रहता है तथा इसके साथ ही ये सुरक्षित भी हैं. अगर ऐसी सर्विस उपलब्ध हो तो उसी का इस्तेमाल करें. 

8. बात सबसे करें, पर भरोसा किसी पर ना करें 
यह भी बात एकदम सही है कि जब तक आप किसी से बातचीत नहीं करेंगे तब तक नई जगह के बारे में पूरी तरह से कैसे जान पाएंगे. इसलिए घूमने के दौरान सबसे खुल कर बातचीत करें, लोगों से इस शहर के बारे में हर जानकारी लें. मगर किसी पर भी आंख बंद कर के भरोसा मत करें.

अगर आपको कोई कहता है कि वह आपको सस्ते दाम पर होटल दिलवा देगा तो कोई बहाना बना कर मना कर दें. किसी से इतना भी ना घुल मिल जाएं कि वो जो दे उसे आप बिना सोचे समझे खा लें. ये सब आपके लिए खतरनाक हो सकता है इसीलिए सतर्क रहें. 

9. हर तरह के स्कैम से बचें 
अगर आप देश से बाहर घूमने जा रहे हैं तो अपनी करंसी बदलवाते समय सतर्क रहें. ऐसा ना हो कि आपके मेहनत के पैसों के बदले कोई आपको नकली नोट थमा दे. करंसी बदलवाने से पहले गूगल पर ये चैक कर लें कि जहां से आप अपने पैसे बदलवा रहे हैं वो एक्सचेंज ऑफ़िस वेरिफाइड है या नहीं.

इसके अलावा किसी तरह के भी क्रैडिट कार्ड लेने से बचें. ये एक तरह का स्कैम हो सकता है जो आपसे क्रेडिट कार्ट के नाम पर पैसे ऐंठ सकता है.

तो जैसा कि आपने ऊपर पढ़ा, दिल से घूमने जा तो रहे हैं लेकिन यहां ज़्यादातर इस्तेमाल दिमाग का करें. आप जितने अच्छे दिल वाले हैं, आपके साथ धोखाधड़ी के चांस उतने ही ज़्यादा बढ़ सकते हैं.

पाकिस्तान में भारत की इन चीजों को गूगल पर सबसे जयादा सर्च किया जाता है

गूगल ने हाल में हर देश के हिसाब से सर्च रिजल्ट जारी किया है. हर देश कई मामलों में तो एक जैसा ही है जिसमें सेलिब्रेटी, सिनेमा, टीवी शो आदि सर्च के मामले में शीर्ष पर रहे हैं. अगर बात पाकिस्तान के संदर्भ में करें तो साल 2019 में पाकिस्तान के लोगों में भारत के बारे में जानने में अधिक दिलचस्पी रही है.

पाकिस्तान भी भारत की इन चीजों को गूगल पर करता है सर्च


इसके साथ ही पाक में इस साल क्रिकेट का क्रेज भी काफी अधिक रहा है. गूगल ने साल 2019 खत्म होने से पहले अपनी सालाना सर्च रिपोर्ट पेश की है. गूगल की सर्च रिपोर्ट में 2019 में पाकिस्तान में सबसे ज्यादा सर्च की जाने वाली चीजों के बारे में जानकारी दी गई है.

गूगल के सर्च रिपोर्ट में रोचक तथ्य यह है कि इसमें तीन ऐसी शख्सियतों को जगह मिली है जिनका ताल्लुक भारत से है और ये भारतीय नागरिक हैं.

गूगल पर पाकिस्तान के लोगों ने इंडियन एयरफोर्स के पायलट अभिनंदन वर्तमान के बारे में लोगों ने जम कर सर्च किया है. भारत के वीर को पाकिस्तान में काफी सर्च किया गया. उनका मिग विमान पाकिस्तान में क्रैश हो गया था. इसके पहले उन्होंने पाकिस्तानी एफ-16 को मार गिराया था, इसके बाद वे 60 घंटे पाकिस्तान की हिरासत में रहे, दबाव पड़ा तो पाकिस्तान ने रिहा कर दिया.

भारत के टीवी रियल्टी शो बिग बॉस सीजन-13 में भी पकिस्तान के लोगों की दिलचस्पी कायम है. यह दूसरे नम्बर पर रहा है. इसके साथ ही मोटू-पतलू गूगल की टॉप सर्च लिस्ट में आठवें नंबर पर रहे. गूगल की इस सूची में पिछले साल की तुलना में अधिक खोजे जाने वाले टॉपिक को शामिल किया गया है.

सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली खान पाकिस्तान में काफी लोकप्रिय हैं और उन्हें गूगल पर काफी सर्च किया जाता है. उन्होंने केदारनाथ फिल्म से बॉलीवुड में एंट्री की है. इसके बाद सिम्बा फिल्म में सारा रणवीर सिंह के अपोजिट नजर आईं. सारा जल्द ही कुली नंबर 1 में नजर आएंगी. सारा पकिस्तान में सबसे अधिक सर्च की जाने वाली सूची में छठे नंबर पर हैं.

बॉलीवुड के सिंगर-कम्पोजर अदनान सामी ने 2015 में भारत की नागरिकता ली है. इसके पहले उनके पास पाकिस्तानी पासपोर्ट था, वे समय-समय पर पाकिस्तान को खरी-खोटी सुनाते रहे हैं. दोनों देशों के बीच जब तनाव होता है तो अदनान और उनके रुख पर नजर रहती है, पाकिस्तान की सर्च लिस्ट में सामी प्रमुख रहे हैं.

इसके साथ ही पाक की स्स्र्च में कबीर सिंह पांचवें और गली बॉय 10 वें नंबर पर रहा है.

बजाज का चेतक ई-स्कूटर लाँच जानिए खासियत व् कीमत

बजाज का चेतक ई-स्कूटर लाँच जानिए खासियत व् कीमत
BAJAJ E SCOOTER KI KIMAT 

बजाज का चेतक ई-स्कूटर लाँच जानिए खासियत व् कीमत


चेतक से ई-स्कूटर बाजार में बजाज की एंट्री
बजाज ने अपना पहला ई-स्कूटर लॉन्च कर दिया है. कंपनी ने इसे चेतक नाम दिया है. एक समय बजाज के चेतक स्कूटर की बहुंत मांग थी. बाद में कंपनी ने इस मॉडल को बंद कर दिया था.

एक लाख रुपये से शुरू हो रही है कीमत
बजाज चेतक की कीमत एक लाख रुपये से शुरू हो रही है. कंपनी ने इस स्कूटर के साथ इलेक्ट्रिक दोपहिया बाजार में कदम रखा है. कंपनी को उम्मीद है कि उसे चेतक ब्रांड का फायदा मिलेगा. एक समय यह कंपनी का सबसे ज्यादा बिकने वाला स्कूटर था. कंपनी ने ई-चेतक का दो वेरिएंट पेश किया है.

डिस्क ब्रेक वाले ई-चेतक की कीमत 1.15 लाख रुपये
ई-चेतक के ड्रम ब्रेक वाले मॉडल की कीमत 1 लाख रुपये है. चेतक का प्रीमियम एडिशन आपको 1.15 लाख रुपये में मिलेगा. इसमें डिस्क ब्रेक की सुविधा है. एक लाख कीमत वाले मॉडल को कंपनी ने अर्बन एडिशन नाम दिया है.

15 जनवरी से बुकिंग शुरू
ई-चेतक छह अलग-अलग रंग में उपलब्ध है. इसकी बुकिंग 15 जनवरी से खुल जाएगी. 2,000 रुपये में ई-चेतक आप बुक कर सकते हैं.

एक बार चार्ज करने पर कितने किमी चलेगा?
ई-चेतक का इलेक्ट्रिक मोटर 4 केडब्लू (5.36 बीएचपी) की अधिकतम ताकत देता है. हालांकि 16 एनएम टॉर्क के साथ इसकी ताकत लगातार 5 बीएचपी बनी रहेगी. ई-चेतक के दो ऑपरेशनल मोड-ईको और स्पोर्ट होंगे. ईको मोड में एक बार चार्ज होने पर यह 95 किलोमीटर चलेगा. स्पोर्ट मोड में 85 किमी तक चलेगा.

क्राउडफंडिंग क्या होता है

क्राउडफंडिंग क्या होता है , क्राउड फंडिंग कैसे प्राप्त करें , Crowd Funding in Hindi

बाजार से पैसे जुटाने के कई तरीके हैं. आईपीओ और बॉन्ड इसके काफी लोकप्रिय माध्यम हैं. आपने इनके बारे में सुना होगा. पर, क्या आप क्राउडफंडिंग के बारे में जानते हैं? दरअसल, यह भी फंड जुटाने का ही एक तरीका है. और क्या है इसमें खास, आइए जानते हैं :



कैसे जुटाया जाता है पैसा?
क्राउडफंडिंग किसी खास प्रोजेक्ट, बिजनेस वेंचर या सामाजिक कल्याण के लिए तमाम लोगों से छोटी-छोटी रकम जुटाने की प्रक्रिया है.

क्‍या है तरीका?
इसमें वेब आधारित प्लेटफॉर्म या सोशल नेटवर्किंग का इस्तेमाल किया जाता है. इनके जरिए फंड जुटाने वाला संभावित दानादाताओं या निवेशकों को फंड जुटाने का कारण बताता है. अपने मकसद को वह खुलकर निवेशकों के समक्ष रखता है. इस मुहिम में वे कैसे योगदान कर सकते हैं, उसका भी पूरा ब्योरा देता है.

क्‍या क्राउडफंड‍िंग कानूनी है?
भारतीय नियमों के अनुसार, इक्विटी आधारित क्राउडफंडिंग गैर-कानूनी है. यानी ऐसा नहीं किया जा सकता है. वहीं, पीयर-टू-पीयर लेंडिंग पर भारतीय रिजर्व बैंक का नियंत्रण है.

कम्‍यून‍िटी क्राउडफंड‍िंग क्‍या है?
कम्यूनिटी क्राउडफंडिंग में दान आधारित और पुरस्कार आधारित क्राउडफंडिंग शामिल है. यह पूरी तरह से कानूनी है. सामाजिक कल्याण के लिए यह फंड जुटाने का लोकप्रिय तरीका रहा है.

क्‍या क्राउडफंडिंंग के ल‍िए फीस है?
क्राउडफंडिंग से जुड़ी वेबसाइटें अमूमन अपने प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने के लिए फीस वसूलती हैं. यह फीस सेवाओं के बदले ली जाती है. ये फंड जुटाने में सहूलियत देती हैं. इनकी मदद से बेहद कम समय में काफी फंड जुटा लिया जाता है.

source = सेंटर फॉर इंवेस्टमेंट एजुकेशन एंड लर्निंग (सीआईईएल) के सौजन्य से. 

इस कीमत के साथ Honor 9X को आज भारत में लॉन्च किया जा रहा है

honor 9x price in india launch date , honor 9x price in india flipkart
Honor 9X को आज भारत में लॉन्च किया जा रहा है. Huawei के सब-ब्रांड Honor द्वारा नई दिल्ली में 12:30pm (दोपहर) IST को एक इवेंट का आयोजन किया जा रहा है.
Honor 9XHonor 9X

Honor 9XHonor 9X


Honor 9X भारत में आज होगा लॉन्चइस स्मार्टफोन को चीन में किया जा चुका है लॉन्च
Honor 9X को आज भारत में लॉन्च किया जा रहा है. Huawei के सब-ब्रांड Honor द्वारा नई दिल्ली में 12:30pm (दोपहर) IST को एक इवेंट का आयोजन किया जा रहा है.  Honor 9X के साथ ही कंपनी इवेंट में Honor Magic Watch 2 और Honor Band 5i को भी लॉन्च करेगी. Honor 9X को Honor 9X Pro के साथ पिछले साल चीन में लॉन्च किया गया था. इसी तरह Honor Magic Watch 2 और Honor Band 5i को भी चीन में पिछले साल लॉन्च किया जा चुका है.
Honor द्वारा Honor 9X, Magic Watch 2 और Band 5i के लॉन्चिंग इवेंट की लाइव स्ट्रीमिंग सोशल मीडिया अकाउंट्स और यूट्यूब पर की जाएगी. लाइव स्ट्रीमिंग की शुरुआत 12:30pm IST से होगी. भारत में Honor 9X की संभावित कीमत की बात करें तो इसे चीन से मिलती जुलती कीमत में उतारा जा सकता है.

इस स्मार्टफोन को चीन में CNY 1,399 (लगभग 14,400 रुपये) की शुरुआती कीमत में उतारा गया था. ये कीमत 4GB रैम + 64GB स्टोरेज ऑप्शन के लिए रखी गई थी. इसी तरह 6GB रैम + 64GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत CNY 1,599 (लगभग 16,400 रुपये) रखी गई थी. कंपनी ने टॉप मॉडल यानी  6GB + 128GB वेरिएंट की कीमत CNY 1,899 (लगभग 19,500 रुपये) तय की थी.

इसी तरह चीन में  Honor Magic Watch 2 और Band 5i की कीमत का भी ऐलान नहीं किया है. हालांकी Honor 9X की तरह ही इनकी कीमत भी चीन से मिलती जुलती कीमत वाली कीमत में रखी जा सकती है. चीन में Magic Watch 2 की कीमत 42mm वेरिएंट के लिए  CNY 1,099 (लगभग 11,200 रुपये) और 46mm वेरिएंट की कीमत CNY 1,199 (लगभग 12,200 रुपये) रखी थी. हालांकि  Honor Band 5i की कीमत CNY 159 (लगभग 1,600 रुपये) रखी गई थी.

© Copyright 2013-2019 - Hindi Blog - ALL RIGHTS RESERVED - POWERED BY BLOGGER.COM